बढऩी शुरू हुई शहर कोतवाल की मुश्किलें

0

JNI NEWS : 31-08-2016 | By : जेएनआई डेस्क | In : Uncategorized

आजाद चौक बवाल
Riot
नामजद आरोपियों को पकड़कर छोडऩे पर अफसर हुए सख्त
शामली(चौहान)। शहर के आजाद चौक में दो बिरादरियों के बीच चल रही खून जंग में शहर कोतवाल पर भी कार्रवाई हो सकती है। जन्माष्टमी के दिन पहले दो नामजद आरोपियों को पकडऩे और बाद में बवाल होने पर दोनों को छोड़ देने की अटपटी सी कार्रवाई अधिकारियों को हजम नही हो रही है। अधिकारियों ने इस पर कड़ा रूख अख्तियार कर लिया है।
शहर के आजाद चौक-काजीवाड़ा में पिछले कई दिनों से इस्लाम और नसीम पक्ष में इन दिनों खूनी रंजिश चल रही है। दोनों पक्ष कई बार एक दूसरे पर जानलेवा हमला कर चुके हैं। खूनी जंग इतनी विकराल हो चुकी है कि शहर का माहौल कई बार बिगड़ चुका है। मामले में अभी तक दोनों पक्षों की ओर से एक दूसरे के खिलाफ आधा दर्जन मुकदमें दर्ज कर करीब ७० से अधिक लोगों को नामजद कर चुकी है, लेकिन अभी तक सिर्फ चार आरोपियों की गिरफ्तारी ही सुनिश्चित हो पाई है। जन्माष्टमी के दिन शहर कोतवाली पुलिस ने आजाद चौक-काजीवाडा में दबिश देकर मुकदमों में नामजद दो आरोपियों को उठा लिया था। पुलिस आरोपियों को शहर कोतवाली ले आई थी, लेकिन उनके परिजनों ने वीवी इण्टर कॉलेज पर जाम लगाते हुए जमकर हंगामा प्रदर्शन किया था। हंगामा कर रहे लोग कोतवाल की गाड़ी पर चढ़ गए थे। बाद में शहर कोतवाली पुलिस द्वारा दोनों आरोपियों को छोडऩे पर ही भीड़ का गुस्सा शांत हुआ था। पुलिस की कार्रवाई से जन्माष्टमी पर शहर के हालात खराब होने से बाल-बाल बचे थे, जबकि नामजद आरोपियों को उठाने के बाद भीड़ तंत्र के दबाव में उन्हें छोड़ देना भी अटपटा सा लग रहा था। मामले के बाद से ही अधिकारी भी शहर कोतवाली पुलिस से सवाल जबाव में जुट गए थे। सूत्रों के अनुसार अब अधिकारियों के इस मामले में सख्त रूख अख्तियार कर लिया है। मामले में कोतवाली पुलिस की इस कार्रवाई के खिलाफ विभागीय रिपोर्ट भी लगाई गई है। इसके चलते अब कोतवाल साहब के मुश्किलों में घिरने की आशंकाए भी जताई जा रही हैं।

इस लेख/समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया लिखें-